Horoscope

The position of the planets at the time and location of your birth, according to Indian Astrology, defines your inner nature and characteristics. To forecast your future, the current and future positions of the planets are compared to those of your birth chart. Indian Astrology is built on this foundation.Daily horoscope,Weekly Horoscope is dependent on various things. First, the planets' positions at the time of your birth are established. This is how the birth information is created. Your birth data is then compared to the positions of planets at various periods of life in order to forecast your future and important life events. Pandit Bal Kishan Ji. Under the able supervision of his father knowledge and scrutiny of Vedic science assist us in understanding difficulties and aspirations related with life from a Vedic perspective.

भारतीय दृष्टिकोण से नव वर्ष 2022 का संक्षिप्त विवेचन

जय मां कामाख्या, आप सभी को नव वर्ष 2022 की श्री दधिमथी ज्योतिष संस्थान परिवार की तरफ से हार्दिक शुभकामनाएं। आने वाला 2022 नव वर्ष आप सभी के लिए मंगलकारी हो। नया वर्ष 2022 सभी के लिए नई उम्मीदें, नए सपने ,नया लक्ष्य ,नई चुनौतियों से रूबरू होने वाला हो ऐसी हम कामना करते हैं। साल 2021 से पहले का साल 2020 कोरोना महामारी के रूप में देश दुनिया के लोगों के लिए संकट लेकर आया ।इस महामारी के कारण समस्त विश्व के जन समुदाय त्रस्त हो गए। तथा आर्थिक स्थिति संपूर्ण विश्व की कमजोर हो गई। धीरे-धीरे लोग इसे भयावह स्थिति को भूलाकर वापस एक नई ऊर्जा के साथ अपने आप को संभालने की स्थिति में आने का प्रयास कर रहे हैं ।और आने वाले वर्ष 2022 को अपने जीवन में नई उमंग का सवेरा मानकर के उसके स्वागत के लिए सज्ज हैं। हम परमपिता परमेश्वर से मां भगवती कामाख्या से प्रार्थना करते हैं कि नया वर्ष आप सभी के लिए संपूर्ण विश्व के लिए एक नई उमंग नई चेतना ऊर्जा से परिपूर्ण हो। यदि हम इस 2022 में भारत देश के बारे में बात करें तो हम यह कह सकते हैं कि 2022 में शनि ग्रह का शासन होने वाला है। और अगर वैश्विक महामारी की बात करें तो इस महामारी का अंत 2022 के अंत में देखने को मिल सकता है। तथा वर्ष 2022 में मई महीने में मीन राशि में बृहस्पति का गोचर होने वाला है। और राहु व केतु का गोचर मेष और तुला राशि में होगा वही शनि ग्रह अप्रैल 2022 से लेकर जुलाई 2022 तक कुंभ राशि में रहने वाला है ।इन सभी कारणों की वजह से वर्ष 2022 की पहले छः महीने बहुत ज्यादा अनुकूल नहीं रहने वाले हैं। इस दौरान देश में कई अहम उतार-चढ़ाव देखने को मिल सकते है । जुलाई 2022 तक पहले 6 महीने तक स्वास्थ्य संबंधी समस्याएं और नए वाले वायरस से जुड़ी दिक्कतें लोगों को परेशान कर सकती है। जुलाई 2022 के बाद देश की स्थिति में सुधार देखने को मिल सकता है। इस देश की वित्तीय स्थिति की बात करें तो वर्ष 2022 के अंत में अच्छी देखने को मिल सकती है। अगस्त 2022 के बाद नई तकनीकी विकास संभव हो सकते हैं। अप्रैल 2022 में बृहस्पति का गोचर मीन राशि में होगा। और यह 2023 तक इस स्थिति में रहने वाला है। बृहस्पति के गोचर से देश की अर्थव्यवस्था को बढ़ावा मिल सकता है। इस वर्ष की शुरुआत अर्थात 2022 में शुक्र शनि की युति होने वाली है। इसी कारण देश में नौकरियों की संभावनाएं अधिक होंगी। लड़की शिशु का जन्म ज्यादा होगा। शुक्र व शनि की युति के चलते चांदी की कीमतों में इजाफा देखने को मिलेगा। साथी हीरे अधिक मात्रा में उपलब्ध होंगे। वर्ष 2022 के दौरान कन्या विवाह दर में में वृद्धि देखने को मिल सकती है। राजनीतिक क्षेत्र में अनुकूलता बनी रहेगी। भारत के साथ-साथ विभिन्न देशों के बीच जो भ्रम की स्थिति देखने को मिल रही थी वह भी खत्म होने लगेगी। वर्ष 2020 से पूरी दुनिया को सता रहे वैश्विक महामारी कोरोना वायरस साल 2022 की दूसरे 6 महीने में अर्थात अगस्त के बाद धीरे-धीरे समाप्त हो सकती है । हालांकि यह वायरस पूरी तरह खत्म नहीं होगा । मलेरिया ,डेंगू ,आदि के रूप में अपना सिर दोबारा उठा सकता है । सरकार के प्रयासों के कारण व कठोर नियम पालना के कारण इसे कोरोना वायरस का प्रकोप धीरे-धीरे कम होने लगेगा। 2022 में कोरोना वायरस की तीसरी लहर के साथ इस महामारी के प्रभाव में कमी देखने को मिलेगी। इसी के साथ यदि जीवन में प्रथम दिन की शुरुआत अच्छी रहे तो बाकी का समय भी अच्छा ही रहता है इस लिए वर्ष 2022 से के प्रथम दिवस के लिए राशि के अनुसार आपको क्या दान, पुण्य, पूजा-पाठ आदि करना चाहिए ।उस बारे में हम आपको अवगत कराने जा रहे हैं।

Showing Horoscope of 02-Oct-2022

Not Exist